फांसी सूर्योदय से पहले ही क्यों दी जाती है! जानिए

फांसी सूर्योदय से पहले ही क्यों दी जाती है! जानिए

आप सभी लोग यह तो जानते है कि कोई जितना बड़ा क्राइम करता है उसे ही फांसी की सजा दी जाती है। लेकिन सूर्य उदय के बाद किसी को भी फांसी नहीं दी जाती है।

क्या आपने कभी कारण जानने की कोशिश की, क्या कारण है कि सूर्योदय से पहले फांसी दी जाती हैं।

जब किसी व्यक्ति को फांसी दी जाती है तब उसके परिवार के सदस्य ना तो उनसे मिल सकते है और ना ही देख सकते हैं।

फांसी की सजा सुबह जल्दी इसलिए दी जाती है ताकि जेल का कोई भी कार्य उससे प्रभावित ना हो तथा हमेशा ही फांसी के वक्त पर वहां पर जेल का एक्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट जल्लाद मौजूद रहते हैं इनकी बिना कभी भी फांसी नहीं दी जाती है।

हमेशा ही फांसी देते समय जल्लाद यह बोलता है कि मुझे माफ कर दिया जाए हिंदू भाइयों को राम राम मुसलमान भाइयो को सलाम हम क्या कर सकते हैं हम तो हुकुम के गुलाम है।

फांसी होने के 10 मिनट बाद ही वहां पर डॉक्टरों की टीम आती है जो वहां पर आकर जांच करते है और बताते है कि उसकी मौत हो गई है या नहीं।

Really Just Lost 18 Year American Girl Virginity

Related posts:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *